Breaking News
recent

Header Ads

ad

:: UPTU/ UPSEE GRADING SYSTEM FROM SESSION 2014-15 ::

UPTU FROM SESSION 2014-15 is going to introduce the grading system in the university. The university Uttar Pradesh Technical University will give grades in the marksheet rather than the marks. The system is going to be changed from the coming session onwards. The UPSEE 2015 is going to be held in the coming session for the admission to various Technical, Management and other courses of UPTU. The new students will be introduced with the new pattern where grades will be granted. Most of the INDIAN UNIEVRSITIES are currently following the Grading system. The UGC has asked all the universities affiliated to it to introduce the grading pattern. The grading pattern will now be followed in UPTU.

The divisions will also be awarded differently to the students, In place of First and Second division, Good and Excellent grades will be provided to the students.  The committee has been formed for the grading system in the university and work is going on it. The system will soon be introduced in the university.


------------------------------------------------------------------------------------------------------------
(HINDI TRANSLATION)
यूपीटीयू के इंजीनियरिंग कॉलेजों में पढ़ रहे स्टूडेंट्स की मार्कशीट्स में अब नंबर गेम नहीं चल पाएगा. नए सेशन से यूपीटीयू अपने स्टूडेंट्स को मा‌र्क्स की जगह ग्रेड देने की तैयारी कर रहा है. इसके लिए यूपीटीयू प्रशासन की ओर से प्रस्ताव भी तैयार कर लिया गया है. यूपीटीयू अपने यहां नए सेशन से लागू होने जा रहे क्रेडिट सिस्टम के तहत इस नियम को लागू करने जा रहा है. इसको लागू करने के लिए सभी तैयारियां पूरी कर ली गई हैं.

यूनिवर्सिटी ग्रांट कमीशन ने सभी यूनिवर्सिटी को च्वॉइस बेस्ड क्रेडिट सिस्टम लागू करने का ऑर्डर दिया था. इसके अलावा यूजीसी ने सभी यूनिवर्सिटी को मार्किंग सिस्टम में बदलाव कर अपने यहां ग्रेडिंग सिस्टम लागू करने का प्रस्ताव भेजा था. जिसके तहत यूपीटीयू अपने यहां ग्रेडिंग सिस्टम को लागू करने जा रहा है. यूं तो यूपीटीयू पिछले साल से ही क्रेडिट सिस्टम लागू करने का मन बना चुका था, लेकिन प्रशासनिक अस्थिरता के चलते मामला लटका हुआ था. फिलहाल अब सबकुछ क्लीयर हो गया है.

नए सेशन से ग्रेड मिलेगा

यूपीटीयू प्रशासन का कहना है कि नए सेशन से एग्जाम में स्टूडेंट्स को मा‌र्क्स के स्थान पर ग्रेड देने की सभी तैयारियां पूरी कर ली गई हैं. जिसेएकेडमिक काउंसिल की बैठक में रखा जाएगा. यहां से मंजूरी मिलने के बाद प्रस्ताव को कार्यपरिषद की बैठक में रखा जाएगा. प्रस्ताव में यूजीसी की ओर से भेजे गए मॉडल पर चर्चा होगी, जिसमें डिवीजन में फ‌र्स्ट और सेकेंड की बजाए वेरी गुड और एक्सीलेंट ग्रेड दिए जाने की बात रखी गई है. इसके अलावा यूपीटीयू में च्वॉइस बेस्ड क्रेडिट सिस्टम के तहत इंजीनियरिंग स्टूडेंट दूसरी स्ट्रीम के भी सब्जेक्ट्स पढ़ सकेंगे. वह साइंस और ह्यूमिनिटीज के साथ ही इंजीनियरिंग की दूसरी ब्रांचेज के कुछ कोर्सेज पढ़ सकेंगे. इसके लिए इंजीनियरिंग डिपार्टमेंट्स क्रेडिट और नॉन क्रेडिट कोर्सेज की लिस्ट तैयार करेंगे.
यूनिवर्सिटी क्रेडिट और ग्रेडिंग सिस्टम पर कवायद कर रहा है. इसके लिए पहले ही समिति बनाई जा चुकी है. समिति की रिपोर्ट को विद्यान परिषद की आगामी बैठक में चर्चा के लिए रखा जाएगा.

-प्रो. आरके खांडल, वीसी, यूपीटीयू



Powered by Blogger.