Breaking News
recent

Header Ads

ad

:: AKTU students are disturbed due to semester results ::

Mistakes made by Dr. APJ Abdul Kalam Technical University are causing the disturbances in students. Results declared by AKTU has lots of errors/faults in each course (even in B.Arch). The colleges are not listening to any student & answering them to move to Lucknow. Now the students are heading towards university's Lucknow office regarding the solution of their problem.


Also Read -> UPTU/AKTU PTNS, PCP, PCP-A, PWG, INC, XX, UFM status of semester result 2016


#hindustan: डॉ एपीजे अब्दुल कलाम प्राविधिक विश्वविद्यालय(एकेटीयू) की लापरवाही से छात्रों की समस्याएं बढ़ गई हैं। विश्वविद्यालय की ओर से घोषित किए गए बीआर्क सहित विभिन्न कोर्स के परीक्षा परिणामों में गड़बड़ी से छात्र परेशान हैं। इसमें अंकपत्र न मिलने व कई विषयों में नंबर न चढ़े होने से छात्र विश्वविद्यालय के चक्कर काटने को मजबूर हैं। विश्वविद्यालय ने बीते दिनों बीआर्क छठे सेमेस्टर के नतीजे जारी किए हैं। इसमें पांच सौ से अधिक छात्रों के परिणाम में गड़बड़ी है। परीक्षा परिणाम में सैकड़ों छात्रों के आंतरिक परीक्षा और वायवा के नंबर ही नहीं चढ़े हुए हैं। वहीं परीक्षा परिणाम में कुछ ऐसे पेपर में भी नंबर दे दिए गए हैं, जिसकी पढ़ाई छात्रों ने पिछले सेमेस्टर में ही पूरी कर ली है। यही नहीं परीक्षा परिणाम में पूरे कॉलेज के नंबर भी नहीं दिए गए हैं।

छात्र लगा रहे हैं विश्वविद्यालय के चक्कर
छात्रों का आरोप है कि विश्वविद्यालय प्रशासन की लापरवाही के चलते परीक्षा परिणाम में लगातार गड़बड़ी हो रही है। वहीं परीक्षा परिणाम में गड़बड़ी ठीक कराने को छात्र विश्वविद्यालय के चक्कर काटने को मजबूर हो रहे हैं। विश्वविद्यालय में छात्रों की ओर से शिकायत करने के बाद भी पांचवें सेमेस्टर का परिणाम कई दिन बाद अपडेट किया गया। वहीं छात्रों ने जो विषय पढ़ा नहीं उसमें भी नंबर दे दिए गए हैं।

आधे-अधूरे परीक्षा परिणामों से बढ़ी समस्याएं
विश्वविद्यालय से संबद्ध जिला गौतमबुद्ध नगर व गाजियाबाद के अधिकांश कॉलेजों के परीक्षा परिणाम आधे-अधूरे घोषित किए गए हैं। छात्रों का आरोप है कि कॉलेजों ने विश्वविद्यालय को आंतरिक परीक्षा के नंबर भेजे हैं, लेकिन इसके बाद भी परीक्षा परिणाम में आंतरिक परीक्षाओं के नंबर नहीं चढ़ाए गए हैं। विश्वविद्यालय ने जल्द परीक्षा परिणाम जारी करने के चक्कर में आधे-अधूरे परिणाम जारी कर दिए हैं। विश्वविद्यालय की ओर से बीते वर्ष भी ऐसा ही किया गया था और छात्रों को चक्कर काटने को मजबूर होना पड़ा था।

‘‘परीक्षा परिणाम में गड़बड़ी की मुख्य वजह कॉलेजों द्वारा आंतरिक परीक्षा के नंबर भेजने में की गई देरी और कुछ तकनीकी समस्या है। इसे ठीक कराया जा रहा है। इस संबंध में कॉलेजों को नोटिस भी जारी किया गया है। दो चार दिन में परिणाम ठीक करा दिए जाएंगे।’’ -प्रोफेसर जेबी पांडेय, परीक्षा नियंत्रक, एकेटीयू

No comments:

Powered by Blogger.